प्रबंधन

हमारा प्रबंधन नवोन्मेषी और अग्रणी सोच रखता है, जिससे हमें निरंतर ऊर्जा मिलती रहती है| यह ऊर्जा टीम के हर सदस्य को निरंतर सक्रिय रखते हुए परिणाम उन्मुख बनाती है|

प्रबंध निदेशक

उप प्रबंध निदेशक

प्रबंध निदेशक

सुश्री हर्षा बंगारी

प्रबंध निदेशक

सुश्री हर्षा बंगारी बैंक की प्रबंध निदेशक हैं। इससे पहले वे एक्ज़िम बैंक की उप प्रबंध निदेशक एवं मुख्य वित्तीय अधिकारी के रूप में कार्यरत थीं। उन्होंने 1995 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। सुश्री बंगारी अनुभवी फायनैंस प्रोफेशनल हैं और उन्हें वित्तीय क्षेत्र में 25 वर्ष से अधिक का अनुभव है। उन्हें बैंक की सभी प्रक्रियाओं और व्यवसाय नीतियों की विशद जानकारी है। उन्हें ट्रेजरी और विदेशी मुद्रा संसाधनों से लेकर जोखिम प्रबंधन, ग्राहक सेवा, देयता प्रबंधन जैसे बैंक के समस्त क्रियाकलापों का अनुभव है। अंतरराष्ट्रीय डेट कैपिटल मार्केट तथा अंतरराष्ट्रीय परियोजना वित्त उनकी रुचि के क्षेत्रों में शामिल हैं।

सुश्री बंगारी कॉमर्स ग्रेजुएट एवं चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं।

उप प्रबंध निदेशक

श्री एन. रमेश

उप प्रबंध निदेशक

श्री एन. रमेश ने 23 नवंबर, 2020 को भारतीय निर्यात-आयात बैंक (इंडिया एक्ज़िम बैंक) के उप प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। वह 1999 बैच के भारतीय दूरसंचार सेवा के अधिकारी हैं। इंडिया एक्ज़िम बैंक में नियुक्ति से पहले वह भारतीय राष्ट्रीय कृषि सरकारी विपणन संघ लिमिटेड (नेफेड) में कार्यपालक निदेशक के रूप में कार्यरत थे। 2016 से 2019 तक वह वाणिज्य विभाग, भारत सरकार में निदेशक के रूप में कार्यरत रहे। यहां उन्होंने कृषि, निर्यात, बायोटेक्नोलॉजी और संयंत्र प्रभागों का कार्यभार संभाला। 2010-2016 के दौरान श्री एन. रमेश ने समुद्री उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण में निदेशक (मार्केटिंग) के रूप में अपनी सेवाएं दीं।

उन्होंने दूरसंचार विभाग में सभी दूसरसंचार सेवा प्रदाताओं और बीपीओ उद्योग संबंधी लाइसेंसिंग शर्तों और विनियमन के क्रियान्वयन के क्षेत्र में काम किया है। उन्होंने मोबाइल नेटवर्क और संबंधित बुनियादी ढांचागत विकास के लिए बीएसएनएल के साथ भी काम किया है।

श्री रमेश बैंगलोर विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रॉनिक्स और कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग स्नातक हैं। वह भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम), बैंगलोर से पब्लिक पॉलिसी एंड मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैजुएट हैं।

मुख्य महाप्रबंधक

मुकुल सरकार

श्री मुकुल सरकार भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बी टेक (आनर्स) हैं और भारतीय प्रबंधन संस्थान, कोलकाता से प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा धारक हैं। उन्होने 1998 में बैंक ज्वाइन किया और वर्तमान मंम बैंक के परियोजना निर्यात समूह के प्रमुख हैं। इससे पहले, वे कंसल्टिंग फर्म ग्लोबल प्रोक्योरमेंट कंसल्टेंट्स लिमिटेड में प्रबंध निदेशक के रूप में प्रतिनियुक्ति पर थे। उन्होंने बैंक के मिलान कार्यालय के रेजिडेंट प्रतिनिधि के रूप में भी कार्य किया है। श्री सरकार के पास निवेश बैंकिंग, कॉर्पोरेट क्रेडिट, परियोजना वित्त, सीमा पार अधिग्रहण वित्तपोषण, एसएमई ऋण और स्ट्रक्चर्ड ट्रेड फायनेंस में 25 से अधिक वर्षों का व्यावसायिक अनुभव है।

श्री सरकार खगोल विज्ञान और पूंजी बाजार में भी रुचि रखते हैं।

मुख्य महाप्रबंधक

डेविड सिनाटे

श्री डेविड एल. सिनाटे मुख्य महाप्रबंधक तथा बैंक के प्रधान कार्यालय स्थित शोध एवं विश्लेषण समूह के प्रमुख हैं। श्री सिनाटे को अंतरराष्ट्रीय व्यापार और वित्त में विशेषज्ञता हासिल है। आप बैंक में शोध संबंधी गतिविधियों का पर्यवेक्षण और समन्वय करते हैं। इनमें भारत के व्यापार और निवेश संभावनाओं की दृष्टि से क्षेत्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर वैश्विक व्यापार और आर्थिक विकास का विश्लेषण करना तथा देशगत जोखिमों और संभावनाओं का मूल्यांकन करना शामिल है। आपने भारत तथा विदेशों में बहुसंख्य सेमिनारों में बैंक का प्रतिनिधित्व किया है। इससे पहले आप पर बैंक में कॉर्पोरेट संचार समूह, निर्यात मार्केटिंग, आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर, प्रशासन, विदेशी कार्यालय समन्वय और आंतरिक लेखा परीक्षा जैसे विभिन्न समूहों को संभालने का उत्तरदायित्व भी रहा है। 1998 में एक्ज़िम बैंक जॉइन करने से पहले आपने भारतीय रिज़र्व बैंक, केंद्रीय कार्यालय, मुंबई में अनुसंधान अधिकारी के रूप में कार्यरत थे। श्री सिनाटे ने दिल्ली विश्वविद्यालय से अपनी स्नातक डिग्री (अर्थशास्त्र ऑनर्स) में और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली से अर्थशास्त्र में मास्टर्स डिग्री हासिल की। फोटोग्राफी, टेबल टेनिस और संगीत (गिटार) में आपकी रुचि है।

मुख्य महाप्रबंधक

प्रहलादन अय्यर

श्री अय्यरने 1998 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया। इससे पूर्व आप एसोचेम, भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन तथा नेशनल काउंसिल फॉर अप्लाइड इकनॉमिक रिसर्च में कार्यरत थे। एक्ज़िम बैंक में आपके कार्यक्षेत्र में निर्यात सेवाएं, एक्ज़िमिअस शिक्षण केंद्र, ज्ञान केंद्र तथा शोध एवं विश्लेषण क्षेत्र शामिल रहे हैं। आप निर्यातकों के लिए सेवाएं तथा सुविधाएं विषय पर भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा गठित एक तकनीकी समिति तथा वाणिज्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा स्थानीय मुद्रा में वस्तु व्यापार विषय पर गठित कार्यबल के सदस्य भी रह चुके हैं। इसके साथ ही आप भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा 'राष्ट्रीय मुद्राओं में द्विपक्षीय व्यापार पर गठित भारत-रूस संयुक्त कार्य बल' के भी सदस्य रह चुके हैं।

आप अर्थशास्त्र और वित्तीय प्रबंधन में मास्टर्स डिग्रीधारक हैं।

आपको कार्नाटिक शास्त्रीय संगीत के साथ-साथ पढ़ने-लिखने में गहरी दिलचस्पी है।

मुख्य महाप्रबंधक

रीमा मार्फतिया

कॉमर्स ग्रैजुएट सुश्री रीमा मारफतिया ने भारतीय प्रबंधन संस्थान, बैंगलोर से वित्त में विशेषज्ञता के साथ व्यवसाय प्रबंधन में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा भी किया है। वर्तमान में, आप बैंक के आंतरिक लेखा परीक्षा समूह की प्रभारी हैं। आपको कॉर्पोरेट ऋण, ट्रेजरी, लेखा, प्रबंधन सूचना प्रणाली जोखिम प्रबंधन और लेखा परीक्षा जैसे क्षेत्रों में 30 वर्षों से अधिक का अनुभव है। आपने भारत और विदेशों में विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भी हिस्सा लिया है। आपने वित्तीय संस्थाओं से संबंधित मामलों को लेकर भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा गठित विभिन्न समितियों में एक्ज़िम बैंक का प्रतिनिधित्व किया है। आप सहायता प्रदान की गई विभिन्न भारतीय कंपनियों के बोर्ड में बैंक की नामिती निदेशक रह चुकी हैं।

मुख्य महाप्रबंधक

मंजिरी भालेराव

मंजिरी भालेराव ने 1997 में बैंक जॉइन किया। आपने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), रुड़की से कंप्यूटर साइंस में बीटेक (ऑनर्स) किया और भारतीय विदेश व्यापार संस्थान, नई दिल्ली से अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय में मास्टर्स डिग्री हासिल की। आप भारतीय बैंकर संस्थाान की सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। वर्तमान में आप बैंक के प्रधान कार्यालय में अनुपालन समूह की प्रमुख हैं और बैंक की मुख्य अनुपालन अधिकारी भी हैं। इससे पहले आप कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह की प्रमुख के रूप में वाणिज्यिक बैंकिंग व्यवसाय, और विशेष परिस्थिति समूह की प्रमुख के रूप में बैंक के स्ट्रेस्ड असेट्स संबंधी कार्यभार संभाल रही थीं। आपको परियोजना वित्तपोषण, इंफ्रास्ट्रक्चर वित्तपोषण, कॉर्पोरेट ऋण, निवेश बैंकिंग, विदेशी निवेश वित्त और व्यापार वित्त के क्षेत्र में देशभर में कार्य करने का 23 वर्ष से अधिक का अनुभव है। रिलेशनशिप मैनेजमेंट, भारत और विदेशों में वित्तीय संरचना और स्पेशल सिचुएशंस अकाउंट्स में आपकोअच्छा अनुभव है।आपने बैंक के नई दिल्ली कार्यालय में भी विभिन्न कार्यभार संभाले हैं। आप कंपनियों की प्रतिस्पर्धात्मक क्षमताएं बढ़ाने के उद्देश्य से शुरू किए गए सीआईआई-एक्ज़िम बैंक अवॉर्ड फॉर बिजनेस एक्सीलेंस की क्वालिफाइड मूल्यांकनकर्ता हैं। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त ईएफक्यूएम एक्सीलेंस मॉडल पर आधारित पुरस्कार है। आप विभिन्न क्षेत्रों की कंपनियों के निदेशक मंडल में भी रही हैं।

मुख्य महाप्रबंधक

दीपाली अग्रवाल

सुश्री दीपाली अग्रवाल ने मुंबई स्थित जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज़ से फायनैंस में एमबीए किया और इसके बाद आपने 1995 में बैंक जॉइन किया। आप वाणिज्य में स्नातक हैं और आपको पिछले 26 वर्षों से बैंक के भारत तथा विदेश स्थित कार्यालयों में अलग-अलग भूमिकाओं में कार्य करने का अनुभव है। आप बैंक के पश्चिमी क्षेत्रीय प्रतिनिधि कार्यालय के साथ-साथ बैंक के सिंगापुर प्रतिनिधि कार्यालय की भी प्रमुख रह चुकी हैं। आपने कॉर्पोरेट बैंकिंग, परियोजना निर्यात, कॉर्पोरेट संचार और ब्रांड प्रबंधन जैसे क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रासरूट स्तर के दस्तकारों के उत्थान, महिला सशक्तीकरण, कौशल विकास और मानव संसाधन प्रबंधन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम करते हुए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में निर्धारित सांस्थानिक लक्ष्यों को सफलतापूर्वक प्राप्त किया है। वर्तमान में आप बैंक के विशेष परिस्थिति समूह और कॉर्पोरेट संचार समूह की प्रमुख हैं।

सुश्री अग्रवाल ‘सीआईआई-एक्ज़िम बैंक अवॉर्ड फॉर बिजनेस एक्सीलेंस’ की क्वालिफाइड मूल्यांकनकर्ता भी हैं। इस पुरस्कार की शुरुआत भारतीय कंपनियों की स्पर्धात्मक क्षमताएं बढ़ाने के उद्देश्य से की गई थी। आप विभिन्न उद्योगों में कुछ कंपनियों के बोर्ड में नामित निदेशक भी रही हैं। आप नीति विकास और रोड मैप विकास संबंधी सरकारी स्तर की समितियों में एक कार्यकारी समूह के सदस्य के रूप में हिस्सा लेती रही हैं और इसमें अपना योगदान देती रही हैं। नूतन पहलों की संकल्पना कर उन्हें क्रियान्वित करते हुए बैंक की ब्रांड छवि और विज़िबिलिटी बढ़ाने के अलावा ग्रासरूट स्तर के दस्तकारों के उत्थान और महिला सशक्तीकरण में भी आपकी बड़ी भूमिका रही है। बैंक के आस्ति आधार बनाने, आय में वृद्धि करने और वसूली में भी आपका प्रमुख योगदान रहा है। महामारी के दौरान, आपने निरंतर नवीन उपायों और नई पहलों को शुरू करते हुए पूरे स्टाफ की सुरक्षा सुनिश्चित की और श्रमशक्ति संसाधनों का असाधारण रूप से प्रबंधन किया।

मुख्य महाप्रबंधक

तरुण शर्मा

श्री तरुण शर्मा बैंक के मुख्य वित्तीय अधिकारी हैं और बैंक की प्रौद्योगिकी पहलों का नेतृत्व भी करते हैं। आपको व्यापार, स्पर्धात्मकता, उद्योग और बुनियादी ढांचागत विकास तथा नीतिगत मामलों में दो दशक से अधिक का अनुभव है।

इससे पहले श्री तरुण, बैंक के नई दिल्ली कार्यालय के प्रमुख रहे हैं। इसके साथ ही आपने भारतीय कंपनियों के क्षमता विकास के लिए वित्तीय सहायता की स्ट्रक्चरिंग; साझेदार देशों में सामाजिक-आर्थिक विकास परियोजनाओं को सहयोग; सरकार संबंधी मामले; और नीति निर्माण में योगदान देने जैसे उत्तरदायित्व भी संभाले हैं। इस दौरान, श्री तरुण ने एक नई पहल, “उभरते सितारे कार्यक्रम” को अमलीजामा पहनाने का उत्तरदायित्व भी संभाला। इस कार्यक्रम के अंतर्गत तकनीक, उत्पाद या प्रोसेस के लिहाज से बेहतर क्षमता वाली कंपनियों को चिह्नित किया जाता है और ऋण, इक्‍विटी तथा तकनीकी सहयोग के जरिए उनकी सहायता की जाती है।

पिछले दो दशकों के दौरान, श्री तरुण ने बैंक के पॉलिसी बिजनेस से लेकर और रणनीति बनाने तक बैंक के विभिन्न परिचालन समूहों में काम किया है। आप अध्यक्ष के एक्ज़िक्यूटिव असिस्टैंट भी रहे हैं। आप बैंक के वाशिंगटन डीसी कार्यालय के निवासी प्रतिनिधि (अमेरिकाज़) भी रहे हैं। आपको विश्‍व बैंक की कैपेसिटी डेवलपमेंट एंड पार्टनरशिप यूनिट में परामर्शदाता के रूप में कार्य करने का अनुभव भी है।

श्री तरुण ने ‘प्रोजेक्ट एक्सपोर्ट्सः कनेक्टिंग कॉन्टिनैंट्स विद इंडियन एक्सपर्टीज़’ शीर्षक से परियोजना निर्यातों पर एक पुस्तक भी लिखी है। इसमें इस बात की पड़ताल की गई है कि भारत के सतत तीव्र आर्थिक विकास में परियोजना निर्यातों की क्या भूमिका हो सकती है। पुणे से इंजीनियरिंग में ग्रैजुएट श्री तरुण ने मुंबई से मैनेजमेंट स्टडीज़ में पोस्ट ग्रैजुएशन की डिग्री हासिल की है और आपने अमेरिका की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से एडवांस्ड एक्ज़िक्यूटिव मैनेजमेंट प्रोग्राम भी किया है।

श्री तरुण को खाली समय में पढ़ना, संगीत सुनना और प्रौद्योगिकी के सागर में गोते लगाना पसंद है।

मुख्य महाप्रबंधक

गौरव भंडारी

श्री गौरव भंडारी दिल्ली विश्वविद्यालय से इकनॉमिक्स ऑनर्स में फर्स्ट क्लास ग्रेजुएट तथा फायनैंस और मार्केटिंग में विशेषज्ञता के साथ भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) कलकत्ता के भूतपूर्व छात्र हैं। आप इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटैंट्स ऑफ इंडिया से फेलो कॉस्ट और मैनेजमेंट अकाउंटैंट हैं। आप भारतीय बैंकर संस्थान के सर्टिफाइड एसोसिएट भी हैं और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एंड फायनेंस के सर्टिफाइड बैंकिंग कंप्लायंस प्रोफेशनल भी हैं। आपको अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं में कॉर्पोरेट ऋण, अंतरराष्ट्रीय व्यापार और निवेश वित्त, ऋण-व्यवस्था, स्ट्रक्चर्ड ऋण, ऋण जोखिम प्रबंधन, अकाउंटैंसी, लायबिलिटी साइड मैनेजमेंट, ट्रेजरी फंक्शन और विदेशी मुद्रा संसाधन जुटाने एवं अनुपालन जैसे क्षेत्रों में 27 वर्ष से अधिक का अनुभव है। इससे पहले आप बैंक के प्रधान कार्यालय में ऋण प्रशासन समूह के प्रमुख रहे हैं, जो मुख्य रूप से स्पेशल सिचुएशंस अकाउंट्स संभालता है। साथ ही आप बैंक के मुख्य अनुपालन अधिकारी भी रहे हैं। आप लंदन में बैंक के निवासी प्रतिनिधि और फिर लंदन शाखा के मुख्य कार्यकारी भी रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय व्यापार वित्त, अंतरराष्ट्रीय ऋण पूंजी बाजार और दबावग्रस्त आस्ति प्रबंधन आपके रुचि के क्षेत्र हैं।

मुख्य महाप्रबंधक

उत्पल गोखले

श्री उत्पल गोखले इंजीनियरिंग में ग्रैजुएट हैं और आपने प्रबंधन में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा किया है। आपको दो दशकों से अधिक का अनुभव है। वर्तमान में आप प्रशासन समूह के प्रभारी हैं।

महाप्रबंधक

टी.डी. सिवाकुमार

श्री टी.डी. सिवाकुमार को 25 वर्षों से अधिक का अनुभव है। आपने विगत 21 वर्षों में इंडिया एक्ज़िम बैंक में अलग-अलग स्थानों पर विभिन्न उत्तरदायित्व संभाले हैं। आपने वर्ष 2000 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था और वर्तमान में आप व्यवसाय विकास समूह के प्रमुख हैं। इससे पहले, आप बैंक के परियोजना निर्यात और कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह तथा बैंक के वॉशिंगटन डीसी, चेन्नै और बेंगलूरु कार्यालयों के प्रमुख रह चुके हैं।

श्री सिवाकुमार को वॉशिंगटन डीसी स्थित ‘इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनैशनल फायनैंस’ द्वारा 2014 में इसके ‘फ्यूचर लीडर्स ग्रुप’ के लिए चुना गया था। इसमें 40 वर्ष या इससे कम उम्र के प्रतिभागियों को उनकी संबंधित संस्थाओं द्वारा उनके ट्रैक रिकॉर्ड और वैश्विक वित्त क्षेत्र में फ्यूचर लीडर बनने की उनकी क्षमताओं के आधार पर नामित किया गया था। आपने CAFRAL और ‘मैकडॉनह स्कूल ऑफ बिजनेस’, जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय, वॉशिंगटन डीसी, यूएसए द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित ‘एडवांस्ड लीडरशिप प्रोग्रामः क्रेडिट्स, मार्केट्स एंड फायनैंशल टेक्नोलॉजीज़’ में भी हिस्सा लिया है। आपने ICLIF, मलेशिया और ‘ऑस्ट्रेलियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट’, ऑस्ट्रेलिया द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित ‘हाई परफॉर्मर्स लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम’ में भी हिस्सा लिया है। आप राष्ट्रमंडल लघु राष्ट्र व्यापार वित्त सुविधा संबंधी सलाहकारी समूह के सदस्य हैं।

श्री सिवाकुमार ने ‘अलागप्पा कॉलेज ऑफ़ टेक्नोलॉजी’, अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नै से लेदर टेक्नोलॉजी में स्नातक और ‘भारतीदासन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट’, तिरुचिरापल्ली से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (फायनैंस एंड मार्केटिंग) में मास्टर डिग्री प्राप्त की है। आपने विकास वित्तपोषण और सार्वजनिक निजी भागीदारी संबंधी विश्व बैंक के ‘मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स’ भी पूरे किए हैं।

श्री सिवाकुमार ने व्यवसाय के सिलसिले में दुनियाभर की यात्रा की है। आप अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों में प्रजेंटेशन देते रहे हैं। आप अपने परिवार के साथ मुंबई में रहते हैं तथा फुर्सत के समय में परिवार के साथ समय बिताना, फिल्में देखना और यात्राएं करना आपको पसंद है।

महाप्रबंधक

मीना वर्मा

सुश्री मीना वर्मा वित्त और मार्केटिंग में विशेषज्ञता के साथ पूना विश्वविद्यालय से प्रबंधन में ग्रेजुएट हैं। आपने 2005 में भारतीय निर्यात-आयात जॉइन किया। आप बैंक में ट्रेजरी और लेखा समूह में डेरिवेटिव्स सहित फंडरेज़िंग और ट्रेजरी प्रबंधन का कार्यभार संभाल चुकी हैं। एक्ज़िम बैंक से पहले आप राष्ट्रीय आवास बैंक में ऐसे ही क्षेत्रों में काम कर चुकी हैं। वर्तमान में आप बैंक के प्रमुख कार्यक्रम ऋण-व्यवस्था की प्रभारी हैं।

लोगों से मिलना-जुलना, पढ़ना और यात्राएं करना आपको पसंद है।

महाप्रबंधक

विक्रमादित्य उगरा

श्री विक्रमादित्य उगरा ने 1996 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। बीते 25 वर्षों में आपने परियोजना निर्यात, निर्यात ऋण, ऋण-व्यवस्था और कॉर्पोरेट बैंकिंग से लेकर रणनीति, जोखिम प्रबंधन, अनुपालन और शोध एवं विश्वलेषण और मार्केटिंग सलाहकारी सेवाओं जैसे विभिन्न क्षेत्रों में काम किया है। आप इससे पहले लंदन शाखा के मुख्य कार्यकारी, मुख्य अनुपालन अधिकारी, निदेशक मंडल के सचिव और बैंक के मुंबई एवं पुणे स्थित क्षेत्रीय कार्यालयों के क्षेत्रीय प्रमुख भी रहे हैं। आप लंदन में बैंक की पहली शाखा स्थापित करने वाली, बैंक के वाणिज्यिक व्यवसाय वर्टिकल्स की पुनर्संरचना करने वाली टीम के सदस्य रहे हैं। आपने दक्षिण अफ्रीका और घाना में वित्तीय संस्थाओं के लिए निर्यात ऋण हेतु क्षमता निर्माण पर परामर्शी अध्ययन किए हैं। आप कंपनियों की प्रतिस्पर्धात्मक क्षमताएं बढ़ाने के उद्देश्य से शुरूकिए गए सीआईआई-एक्ज़िम बैंक अवॉर्ड फॉर बिजनेस एक्सीलेंस के क्वालिफाइड मूल्यांकनकर्ता हैं। यह यूरोपियन फाउंडेशन फॉर क्वालिटी मैनेजमेंट के टोटल क्वालिटी मैनेजमेंट (टीक्यूम) मॉडल पर आधारित एक समग्र गुणवत्ता प्रबंधन पुरस्कार है। आप दो भारतीय कंपनियों के निदेशक मंडल में रहे हैं और बैंक प्रशिक्षण महाविद्यालयों तथा उद्योग निकायों में निर्यात वित्तपोषण के विभिन्न पहलुओं पर व्याख्यान भी देते रहे हैं। मुंबई विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में स्नातक करने के बाद आपने मुंबई के जमनालाल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफमैनेज में स्टडीज़ से प्रबंधन में मास्टर्स डिग्री हासिल की। आपको यूके स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ मैनचेस्टर बिज़नेस स्कूल से एडवांस्ड सर्टिफिकेट इन कंप्लायंस भी प्राप्त है।

महाप्रबंधक

धर्मेन्द्र सचान

श्री धर्मेंद्र सचान एक अनुभवी ज्ञान प्रबंधन पेशेवर हैं। आपने कॉमर्स में स्नातक और राजस्थान विश्वविद्यालय से पुस्तकालय और सूचना विज्ञान में मास्टर्स डिग्री हासिल की है। आपने कंप्यूटर विज्ञान में डिप्लोमा भी किया है। आपको देश भर के विभिन्न संस्थानों में चीफ लर्निंग ऑफिसर और चीफ नॉलेज ऑफिसर के रूप में 26 साल से अधिक समय तक कार्य करने का अनुभव है। श्री सचान ने 1997 में बैंक जॉइन किया था और वर्तमान में बैंक के ग्रासरूट उद्यम विकास समूह मार्केटिंग सलाहकारी सेवाएं समूह, ज्ञान केंद्र के अलावा व्यापार सूचना एवं सुगमीकरण पोर्टल ‘एक्ज़िम मित्र’ के प्रमुख हैं। श्री सचान इससे पहले बैंक के सूचना प्रौद्योगिकी समूह और राजभाषा समूह के प्रमुख रह चुके हैं। भारत, दक्षिण पूर्व एशिया और मध्य अमेरिका के 75 से ज्यादा छोटे और बड़े पुस्तकालयों का ऑटोमेशन; बैंक ऑफ बड़ौदा में पूर्णतः रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन आधारित ज्ञान संसाधन केंद्र (लर्निंग रिसोर्स सेंटर) की स्थापना; और पुस्तकालयों में ज्ञान प्रबंधन कार्यप्रणाली की शुरुआत करने जैसी उपलब्धियां आपके नाम हैं। आप एक उत्साही साइकलिस्ट भी हैं और इसके लिए आपको ‘ब्रेवेरांदोनरमॉन्द्यो’ मेडल भी मिला है।

महाप्रबंधक

सुजीत भाले

श्री सुजीत भाले अमरावती विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग (औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स) में स्नातक हैं और डीबीएएम विश्वविद्यालय, औरंगाबाद से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स डिग्री हासिल की है।आप भारतीय बैंकर संस्थान के सर्टिफाइड एसोसिएट (सीएआईआईबी) हैं और आपने आईडीआरबीटी, हैदराबाद से बैंकिंग टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा भी किया है। आपने जनवरी 2012 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था और फिलहाल बैंक के प्रधान कार्यालय में कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह से जुड़े हैं। इससे पहले आप बैंक की लंदन शाखा के मुख्य कार्यकारी और पुणे क्षेत्रीय कार्यालय के क्षेत्रीय प्रमुख भी रह चुके हैं। बैंक जॉइन करने से पहले आपने बैंक ऑफ बड़ौदा में करीब 16 साल काम किया है। इस दौरानआपको कॉर्पोरेट ऋण, परियोजना वित्त, लोन सिंडिकेशन, इंफ्रास्ट्रक्चर फायनेंस आदि क्षेत्रों में कार्य करने का अनुभव रहा है। आप बैंक ऑफ बड़ौदा के दुबई स्थित सिंडिकेशन सेंटर के भी प्रमुख रह चुके हैं।

फुर्सत के पलों में आप पढ़ना पसंद करते हैं और आर्थिक-राजनीतिक मामलों में खुद को हमेशा अपडेट रखते हैं।

महाप्रबंधक

शिल्पा वाघमारे

सुश्री शिल्पा वाघमारे वाणिज्य में स्नातक हैं और मुंबई विश्वविद्यालय से वित्त में विशेषज्ञता के साथ मैनेजमेंट स्टडीज़ में स्नातकोत्तर हैं। आप भारतीय बैंकर संस्थान की सर्टिफाइड एसोसिएट हैं और वर्तमान में बैंक के प्रधान कार्यालय स्थित राष्ट्रीय निर्यात बीमा खाते के अंतर्गत क्रेता ऋण समूह की प्रमुख हैं। आप बैंक के क्षेत्रीय और विदेशी कार्यालयों में जोखिम प्रबंधन, ऋण प्रबंधन और दबावग्रस्त आस्तियों व परियोजना वित्त सहित विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत रही हैं। बैंक जॉइन करने से पहले आप साइकॉम लिमिटेड में 12 वर्ष और इसकी अनुषंगी कंपनी साइकॉम एआरसी लिमिटेड में 4 वर्ष से अधिक समय तक रही हैं। आपको दबावग्रस्त आस्तियों, अनर्जक आस्तियों के प्रबंधन / समाधान, दबावग्रस्त आस्तियों की बिक्री और खरीद, कानूनी मामलों, परियोजना वित्त और अनुपालन में 26 वर्षों से अधिक का अनुभव है। आपको संगीत, नृत्य, पाक कला और यात्राएं करना पसंद है।

महाप्रबंधक

उदय शिंदे

श्री उदय शिंदे वाणिज्य स्नातक और टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, मुंबई से पर्सनल मैनेजमेंट एंड इंडस्ट्रियल रिलेशंस में स्नातकोत्तर हैं। आपने 1997 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। वर्तमान में आप कॉर्पोरेट संचार और राजभाषा समूह के प्रमुख हैं। श्री शिंदे आरटीआई अधिनियम के अंतर्गत बैंक के केंद्रीय जन सूचना अधिकारी भी हैं। आपको मानव संसाधन और प्रशासन क्षेत्र के विशेषज्ञ के रूप में 24 वर्षों से अधिक समय तक कार्य करने का अनुभव है। कर्मचारियों से समन्वय बनाए रखने, प्रतिभा खोज एवं प्रबंधन तथा सुविधा प्रबंधन में आपकी रुचि है। इसके अतिरिक्त आप बैंक के कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह और जोहांसबर्ग प्रतिनिधि कार्यालय में सेकेंडमेंट पर भी रहे हैं। क्रिकेट और टेबल टेनिस जैसे खेलों के साथ-साथ खगोल विज्ञान से जुड़े कार्यक्रम देखने, पाक कला, यात्राएं करने और चित्रकारी में आपकी विशेष रुचि है।

महाप्रबंधक

लोकेश कुमार

श्री लोकेश कुमार राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना से सिविल इंजीनियरिंग में स्नातक हैं। आपने एलएन मिश्रा इंस्टीट्यूट, पटना से मार्केटिंग मैनेजमेंट में मास्टर्स की डिग्री हासिल की है। आपने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से वित्तीय प्रबंधन में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा भी किया है। आप इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। आपने एक्ज़िम बैंक 2008 में जॉइन किया और वर्तमान में बैंक के मानव संसाधन प्रबंधन समूह के प्रमुख हैं। इससे पहले आप बैंक के कॉर्पोरेट बैंकिंग, परियोजना निर्यात समूह और विशेष परिस्थिति समूह में काम कर चुके हैं और बैंक की लंदन शाखा तथा पुणे क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख रह चुके हैं। आप श्रीलंका निर्यात ऋण बीमा निगम में क्षमता निर्माण के लिए परामर्श संबंधी कार्य पूरा करने वाली बैंक की टीम का भी हिस्सा रहे हैं। बैंक को यह कार्य राष्ट्रमंडल सचिवालय, लंदन द्वारा सौंपा गया था। श्री कुमार को बैंकिंग जगत में 26 वर्षों का अनुभव है, जिनमें से एक दशक से अधिक का वाणिज्यिक बैंकिंग का अनुभव है। पठन-पाठन, नेटवर्किंग, पाक कला और यात्राएं करने में आपकी रुचि है।

महाप्रबंधक

सरोज खुंटिया

श्री सरोज खुंटिया ने 2006 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। वर्तमान में आप बैंक के ऋण-व्यवस्था समूह में पदस्थापित हैं। श्री खुंटिया पहले भी ऋण-व्यवस्था समूह में रहे हैं। आपको बैंक के प्रधान कार्यालय में व्यापार वित्त, परियोजना निर्यात और कॉर्पोरेट बैंकिंग समूहों में भी कार्य का अनुभव है। आपको प्रोफेशनल बैंकिंग में 19 वर्ष से अधिक का अनुभव प्राप्त है। आपने उत्कल विश्वविद्यालय से कॉमर्स एंड फायनैंस एंड कंट्रोल में मास्टर्स डिग्री हासिल की है। आप इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं। आपने भारतीय बैंकिंग एवं वित्त संस्थान से अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग और वित्त में डिप्लोमा भी किया है। पूँजी बाजार और अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग के अलावा खेल श्री खुंटिया के रुचि के विषय हैं। पढ़ने में आपका मन खूब रमता है।

महाप्रबंधक

रिकेश चंद

श्री रिकेश चंद ने 2004 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। वर्तमान में आप बैंक के प्रधान कार्यालय में स्पेशल सिट्यूएशन्स ग्रुप के प्रभारी हैं। इससे पहले आप अहमदाबाद और दुबई, यूएई में बैंक के कार्यालयों के प्रमुख रह चुके हैं। आपको चार साल के वाणिज्यिक बैंकिंग के अनुभव के अतिरिक्त, कॉर्पोरेट बैंकिंग और व्यापार वित्त में भी प्रोफेशनल अनुभव प्राप्त है। आप राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सूरत से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक हैं और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ बैंकर्स के सर्टिफाइड एसोसिएट हैं।

खेलों और फिल्मों में आपकी दिलचस्पी है और फुर्सत के पलों में आप परिवार के साथ समय बिताना पसंद करते हैं।

महाप्रबंधक

श्री निर्मित वेद

श्री निर्मित वेद ने वर्ष 2000 में इंडिया एक्ज़िम बैंक जॉइन किया। वर्तमान में आप बैंक के परियोजना निर्यात समूह में कार्यरत हैं। इससे पहले आपको बैंक के प्रधान कार्यालय में कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह, लघु एवं मध्यम उद्यम समूह और व्यवसाय विकास समूहों में काम करने का अनुभव है। आप बैंक के मुंबई स्थित क्षेत्रीय कार्यालय और हंगरी तथा दुबई प्रतिनिधि कार्यालयों के भी प्रमुख रहे हैं। बैंक के दुबई कार्यालय की स्थापना में आपका महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है।

श्री वेद वाणिज्य में स्नातक हैं। सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च से आपने मैनेजमेंट स्टडीज (फायनैंस) में मास्टर्स डिग्री हासिल की है। आपने यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी, सिडनी से बैंकिंग और फायनैंस में भी मास्टर्स किया है।

आप क्रिकेट प्रेमी हैं और अपने खाली समय में हिन्दी संगीत सुनना और खाना बनाना पसंद करते हैं।

महाप्रबंधक

दयानंद शेट्टी

श्री दयानंद शेट्टी ने 1987 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। आप वर्तमान में बैंक के प्रशासन समूह में कार्यरत हैं। आपने बैंक के लिए कार्यालय और बैंक के स्टाफ के लिए आवासीय परिसरों के प्रोक्योरमेंट में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है और इन परिसरों के प्रबंधन के लिए उत्तरदायी हैं। आप प्रशासन समूह में कैटरिंग, सुरक्षा, रखरखाव, कुरियर, परिवहन और कार्यालय उपकरण के प्रोक्योरमेंट जैसी अन्य सेवाओं के भी इन-चार्ज हैं। आप बैंक के विभिन्न बाहरी स्टेकहोल्डरों के साथ समन्वय भी संभालते हैं।

श्री शेट्टी मुंबई विश्वविद्यालय से कॉमर्स ग्रैजुएट हैं। आप क्रिकेट और फुटबॉल प्रेमी हैं।

महाप्रबंधक

मेघना जोगलेकर

सुश्री मेघना जोगलेकर ने 2002 में इंडिया एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। वर्तमान में आप संपोषी उद्यम एवं निर्यात विकास (सीड) समूह की प्रमुख हैं। इससे पहले आप बैंक के ट्रेजरी एवं लेखा समूह में संसाधन जुटाने संबंधी कार्य संभाल रही थीं। बैंक में अपने 18 वर्ष के करियर के दौरान आपने इंडिया एक्ज़िम बैंक के प्रमुख ऋण परिचालनों का अनुभव हासिल किया। आप बैंक के प्रतिनिधि कार्यालयों तथा प्रधान कार्यालय में रहीं और इस दौरान ऋण-व्यवस्था, कॉर्पोरेट बैंकिंग, व्यापार वित्त, परियोजना वित्त एवं लघु और मध्यम उद्यम तथा कृषि वित्तपोषण जैसे उत्पादों सहित बैंक के समस्त उत्पादों के परिचालन का अनुभव हासिल किया।

प्रधान कार्यालय में पदस्थापना से पहले सुश्री जोगलेकर सिंगापुर स्थित बैंक के प्रतिनिधि कार्यालय में पदस्थापित थीं, जहां से आपने एशिया-प्रशांत क्षेत्र कवर किया। आप एक्ज़िम बैंक के यांगून स्थित प्रतिनिधि कार्यालय का पर्यवेक्षण भी कर रही थीं। आप मुंबई में बैंक के पश्चिमी क्षेत्रीय प्रतिनिधि कार्यालय की प्रमुख भी रही हैं और पश्चिमी भारत में एक्ज़िम बैंक की गतिविधियों के लिए उत्तरदायी रही हैं। इस दौरान आप बैंक के ऋण और सेवा कार्यक्रमों के अतिरिक्त अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों, उद्योग संगठनों और व्यापार निकायों के साथ चर्चा के लिए भी उत्तरदायी रहीं।

सुश्री मेघना जोगलेकर कॉमर्स ग्रैजुएट हैं। आपने के.जे. सोमैया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज़ एंड रिसर्च, मुंबई से अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय में पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा किया है।

महाप्रबंधक

प्रीती थॉमस

सुश्री प्रीति थॉमस ने 2000 में एक्ज़िम बैंक की सेवा ग्रहण की थी और वर्तमान में आप बैंक के विधिक समूह की प्रमुख हैं। आपको परियोजनाओं के लिए स्ट्रक्चर्ड ऋण प्रदान करने और विभिन्न देशों में वित्त अधिग्रहण संबंधी संविदाएं (कॉन्ट्रैक्ट निगोशिएशन) कराने का अच्छा अनुभव है। आपको अंतरराष्ट्रीय कानूनों और उनसे जुड़े मसलों का भी अच्छा अनुभव रहा है। पिछले कुछ वर्षों में आपने विश्व की अग्रणी लॉ फर्मों के साथ अच्छा नेटवर्क बनाया है।

सुश्री थॉमस वॉशिंगटन डी.सी. स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनैशनल फायनैंस के फ्यूचर लीडर्स क्लास ऑफ 2015 कार्यक्रम के लिए भी चुनी जा चुकी हैं। इस कार्यक्रम के अंतर्गत 40 वर्ष से कम उम्र के ऐसे युवा लीडरों को चिह्नित किया जाता है, जिनकी पूर्व में उल्लेखनीय उपलब्धियां रही हों और उनमें वैश्विक वित्त क्षेत्र का नेतृत्व करने की क्षमता हो।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग एंड फायनैंस द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों में आपको संकाय (फैकल्टी) के रूप में आमंत्रित किया जाता है। आप विधिक दस्तावेजीकरण पर बैंक के स्टाफ सदस्यों के लिए भी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करती रही हैं और इनमें स्वयं प्रशिक्षण देने के साथ-साथ विषय विशेषज्ञों को भी बुलाती रही हैं। आप बैंक से सहायता प्राप्त एक कंपनी के बोर्ड में नामिती निदेशक भी रही हैं।

सुश्री थॉमस ने अपनी लॉ की डिग्री सिम्बायोसिस लॉ कॉलेज, पुणे से प्राप्त की। आपने आईएलएस लॉ कॉलेज, पुणे से कॉर्पोरेट कानून में डिप्लोमा भी किया है। खाली समय में आपको बागवानी करने, पढ़ने और कॉन्टिनैंटल खाना बनाने का शौक है।

महाप्रबंधक

मनीष जोशी

श्री मनीष जोशी को बैंकिंग के विभिन्न कार्यक्षेत्रों में 25 वर्ष से अधिक का अनुभव है। आपने 2011 में एक्ज़िम बैंक जॉइन किया था। वर्तमान में आप बैंक के ऋण मूल्यांकन समूह में कार्यरत हैं। आपने बैंक के कॉर्पोरेट बैंकिंग समूह और नई दिल्ली कार्यालय सहित विभिन्नक समूहों में काम किया है। एक्ज़िम बैंक आने से पहले आप भारतीय स्टेट बैंक में कार्यरत थे, जहां आपने 15 वर्ष के अपने कार्यकाल के दौरान विभिन्न स्थानों और कार्यालयों / शाखाओं में अपनी सेवाएं दीं। आप इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में ग्रैजुएट हैं और भारतीय प्रबंध संस्थान, इंदौर से आपने मास्टर्स डिग्री हासिल की है। आप इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स के सर्टिफाइड एसोसिएट भी हैं। फुर्सत के पलों में आपको संगीत सुनना और यात्राएं करना पसंद है।